क्यों जरूरी है SEO ( Why is SEO essential? )

https://www.digitalsteps.in/सूचनाओं के अथाह संसार में अब खुद का डाटा व्यवस्थित तरीके से रखना जरूरी हो गया है. SEO ऑप्टिमाइज्ड वेब इन्फ्रास्ट्रक्चर से भी सर्च एंजिन फ्रेंडली खाका तैयार किया जा सकता है. इससे एलोगरिदम में भी सुधार करने में मदद मिलती है. मौजूदा दौर में जारी पेड SEO के मुकाबलेऑर्गेनिक SEO एक नॉन पेड सर्विस है जिससे लंबे समय तक लाभ हासिल होता है. ऑर्गेनिक SEO के जरिए बैक-लिंकिंग का काम होता है जो कंपनी, प्रॉडक्ट या फिर इंडिविजुअल को दीर्घकालिक लाभ प्रदान करता है.

बिजकोर के मार्केटिंग CEO जोशुआ गुऐरा के मुताबिक मैथोडिक SEO स्ट्रैटजीज़ के दौरान आप जितना ऑप्टिमल यूजर एक्सपीयरेंस करते हैं आपको ऑर्गेनिक ट्रैफिक के साथ उच्चतम पोजिशन का रिवार्ड भी मिलता है.

पे पर क्लिक PPC और ईमेल मार्केटिंग की तुलना में सर्च एंजिन ऑप्टिमाईजेशन कम लागत वाला इमेज बिल्डिंग टूल है इसमें महज इंटरनेट कनेक्शन का खर्च आता है. कहना गलत नहीं होगा कि SEO से बेहतर ROI हासिल किया जा सकता है.
  1. यूजर्स सर्फिंग ट्रेंड- आजकल कंज्यूमर्स या फैन्स अपने प्रॉडक्ट या नायक के बारे में ज्यादा से ज्यादा पड़ताल करके जानकारी हासिल करना चाहता है. ऐसे में ऑर्गेनिक SEO न करने से टारगेटयूजर्स तक पैठ बनाने में परेशानी होती है. क्योंकि ऑर्गेनिक SEO न होने से सर्विस प्रोवाइडर सर्च एंजिन की टॉप लिस्ट में न होकर फेहरिस्त में कहीं दबा-छुपा रहता है जिससे यूजर्स की नजर सर्विस प्रोवाइडर तक नहीं पड़ पाती. जबकि ऑर्गेनिक SEO यदि व्यवस्थित तरीके से किया जाए तो सर्च एंजिन सर्विस प्रोवाइडर को शॉर्ट लिस्ट में टॉप पर दर्शाता है.
  2. मोबाइल बैंडविद्थ में वृद्धि- देखने में आया है कि ट्रैडिशनल डेस्कटॉप डिवाइसेस के मुकाबले मोबाइल डिवाइस पर ट्रैफिक बढ़ा है. इस व्यापक बदलाव के कारण SEO टेक्नीक्स को भी आज अहमियत मिली है. अब लोकल सर्च ऑप्टिमाइजेशन भी तेजी से स्थान बना रहा है.
  3. SEO स्ट्रेटजी- गूगल और अन्य सर्च एंजिन्स अपनी पड़ताल में खोजी जाने वाली सामग्री के बारे में पता लगाते हैं कि इसका इतिहास कितना पुराना है. ऐसे में कंपनी, प्रॉडक्ट या इंडिविजुअल के बारे में सोशल साइट या वेबपेज पर किये जाने वाले प्रत्येक अपडेट के साथ किया गया एलॉगरिद्म का व्यवस्थित संयोजन सर्च एंजिन की सर्चिंग के दौरान वरीयता हासिल करता है. मतलब आज के दौर में पढ़ाई-लिखाई और खेलकूद के साथ ही ऑन लाईन प्रजेंस के दौरान सर्च एंजिन में भी टॉप रैंकिंग रखना जरूरी हो गया है. हेल्दी कंटेंट प्रोफाइल के अभाव में सर्विस प्रोवाइडर की सालों की मेहनत बेकार जा सकती है क्योंकि कमजोर कंटेंट प्रोफाइल से लोअर रैंकिंग बनती है और सर्विस प्रोवाइडर की इन्फर्मेशन यूजर्स तक पहुंचने से वंचित रह जाती है. 
  4. नेवर एंडिंग प्रोसेस- लीडिंग SEO प्रोवाइडर्स को ट्रेक और रैंक करने वाली वेबसाइट बेस्टसीईओकंपनीज़ डॉट कॉम के ऑनर जेसन बैलेस के अनुसार SEO नेवर एंडिंग प्रोसेस यानी कभी खत्म न होने वाली प्रक्रिया है. यदि आप आगे नहीं बढ़ते हैं और अपनी पोजिशन में सुधार नहीं करते हैं तो आप अपने प्रतिस्पर्धी को आगे बढ़ने के लिए मैदान खुला छोड़ रहे हैं. 
ऑर्गेनिक SEO में इन्वेस्टिंग आज बहुत जरूरी हो गया है. मौजूदा दौर में ऑर्गेनिक कीवर्ड टाटा और ट्रैफिक की समस्या से सर्विस प्रोवाडर खासे परेशान हैं ऐसे में व्यापार या व्यक्ति विशेष की ऑन लाइन रेटिंग के लिए SEO स्ट्रेटजी जरूरी हो गई है. तो यदि ऑन लाइन चर्चा में बने रहना है तो ऑर्गेनिक SEO में आपको भी यकीन करना होगा, क्योंकि तभी सर्च एंजिन में टॉप पर आने का आपका सपना भी पूरा हो सकेगा.

 Learn more Why is SEO essential with DigitalSteps Seo.

Comments